Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

  जालंधर ब्यूरो : ( आखिर क्यों न्यूज़ ) :  राज्य में सौ फीसद यात्रियों के साथ बसों की संचालन की अनुमति मिलने के बावजूद भी निजी बस ऑपरेटर सोमवार से अपनी बसों का संचालन शुरू करते दिखाई नहीं दे रहे है। निजी बस ऑपरेटर बेहद कम यात्रियों, आसमान छूती डीजल कीमतों, वीकेंड लॉकडाउन एवं शाम सात बजे तक ऑपरेशन की अनुमति पर सवाल तो उठा ही रहे हैं। इसके अलावा ऑपरेटर अड्डा फीस, टोल टैक्स, स्पेशल रोड टैक्स में कोई राहत न दिए जाने को लेकर भी पंजाब सरकार को भी कटघरे में खड़े कर रहे हैं। निजी बस ऑपरेटरों ने बसों में शारीरिक दूरी के सिद्धांत को नजरअंदाज करने को लेकर भी पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की घोषणा को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जारी सरकारी मुहिम को महज एक मजाक करार दे रहे हैं। निजी बस ऑपरेटर का तर्क है कि बसों का संचालन किसी सरकारी कार्यालय की तरह फाइव-डे वीक के साथ संभव नहीं है। ऑपरेटरों का कहना है कि सरकार शाम सात बजे के बाद ऑपरेशन की अनुुमति नहीं दे रही है। इन आदेशों के मुताबिक बसों को बस स्टैंड से शाम चार बजे के बाद रवाना ही नहीं किया जा सकेगा, क्योंकि गंतव्य तक पहुंचने में दो से तीन घंटे का समय तो लग ही जाते हैं।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.