Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

पंजाब की अमरिंदर सिंह सरकार 400 रुपये प्रति खुराक कोवाक्सिन टीका खरीद कर 1060 रुपये में निजी अस्पतालों को बेचने के आरोप में चौतरफा घिरती नजर आ रही है। पहले से अपनी पार्टी में विरोध का सामना कर रहे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर आरोप लगाने वाले शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर से मुलाकात की और अमरिंदर सरकार की बर्खास्तगी की मांग कर डाली।

वहीं, भाजपा ने दिल्ली में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, राजस्थान में टीके फेंके जा रहे हैं तो वहीं पंजाब में मुनाफा कमाया जा रहा है। दोनों ही राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं। हालांकि, इस मुनाफाखोरी के बाद पंजाब सरकार ने निजी अस्पतालों को दिया गया टीका वापस मंगाने का बाकायदा आदेश जारी कर दिया। वहीं, केंद्र ने इस बारे में पंजाब सरकार से स्पष्टीकरण मांग लिया है।
शिअद नेता सुखबीर सिंह बादल का दावा है कि कोवाक्सिन टीके की खुराक राज्य को 400 रुपये में मिलती है और पंजाब सरकार उसे निजी अस्पतालों को 1,060 रुपये में बेच रही है। आगे निजी अस्पताल लोगों से प्रत्येक खुराक के लिए 1,560 रुपये ले रहे हैं। सुखबीर ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हमारी पार्टी इस मामले की जांच के लिए अदालत भी जाएगी।उन्होंने पहले ही हाईकोर्ट की निगरानी में इस घोटाले की जांच की मांग की थी। उन्होंने कहा, राज्य सरकार ने कोरोना से मरने वालों के आंकड़ों में भी हेरफेर की। सरकारी आंकड़ों में 15 हजार मौतें ही बताई गईं, जबकि गैर सरकारी आंकड़ों में यह संख्या करीब 60 हजार है।

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.