Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने शनिवार को किसानों पर एक अभद्र टिप्पणी की। मामले के तूल पकड़ने पर उन्होंने इस बयान पर खेद जताया और कहा कि अगर किसी को मेरे बयानों से दुख पहुंचा है, तो, मैं माफी चाहता हूं। 

दरअसल शनिवार दोपहर बाद करीब ढाई बजे कृषि मंत्री भिवानी रेस्ट हाउस पहुंचे थे। इस दौरान प्रेस कान्फ्रेंस में उन्होंने किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों के प्रति विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि ये घर में होते तो भी मरते। जो आज घर में हैं, वे नहीं मर रहे क्या। कोई हार्ट अटैक से मरा है तो कोई बीमारी से। साल में औसत मौत के अनुसार ही मरे हैं। देश में कोई भी मरता है तो उसके प्रति मेरी पूरी-पूरी संवेदनाएं हैं

Advertisements
Advertisements

इस बयान के करीब छह घंटे बाद रात करीब साढ़े आठ बजे कृषि मंत्री जेपी दलाल ने वीडियो जारी कर मामले पर खेद जताया। उन्होंने कहा कि प्रेस कान्फ्रेंस में चर्चा के दौरान मृत किसानों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। आकस्मिक मौत किसी की भी हो, कष्ट होता है। जहां तक शहीद का दर्जा देने की बात थी, शहीद का दर्जा हमारी सेना के जवानों को ही मिलता है। सोशल मीडिया पर मेरे बयान का गलत अर्थ निकाला गया है और तोड़-मरोड़कर चलाया गया है।

Advertisements

 

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

2 thoughts on “जानिए किस मंत्री ने दिया यह विवादित बयान,कहा कि ये घर में होते तो भी मरते”

Leave a Reply

Your email address will not be published.