Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

जालंधर :- आज शिवसेना समाजवादी की विशेष बैठक युवा पंजाब प्रधान सुनील कुमार बंटी की अध्यक्षता में हुई ! जिस मीटिंग में विशेष तौर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कमलेश भारद्वाज जी वा राष्ट्रीय चेयरमैन एडवोकेट हनी भारद्वाज जी वा राष्ट्रीय उप प्रमुख रजनीश नीटू जी वा पंजाब चेयरमैन नरेंद्र थापर वा उप प्रमुख पंजाब जस्सा आलीपुरिया वा युवा वाइस चेयरमैन सुनील मामदु वा जनरल सेक्टरी पंजाब सचिन छाबड़ा जी वा जिला प्रधान राजिंदर सिंह जी विशेष तौर पर आये। मीटिंग को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय प्रधान श्री कमलेश भारद्वाज जी वा राष्ट्रीय चेयरमैन हनी भारद्वाज जी वा पंजाब चेयरमैन नरेंद्र थापर जी वा युवा पंजाब प्रधान सुनील कुमार बंटी जी वा उपप्रमुख पंजाब जस्सा आलीपुरिया ने कहा कि मंगोलपुरी इलाके में हुई 25 वर्षीय हिंदू युवक (रिंकू शर्मा) की जय श्री राम के नारे लगाने के कारण मुस्लिम समाज के कुछ लोगों ने की हत्या का शिव सेना समाजवादी कड़े शब्दों में निंदा और विरोध करती है अपने सम्बोधन में युवा पंजाब प्रधान सुनील कुमार बंटी वा उपप्रमुख जस्सा आलीपुरिया ने कहा की रिंकू शर्मा के लिए इंसाफ की मांग की है। रिंकू शर्मा राम मंदिर के लिए निधि समर्पण अभियान से जुटा था और इसके चलते ही उसकी हत्या हुई है। हम हत्यारों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग करते है। जिन मुस्लिम लड़कों ने धार्मिक नज़रिए से रिंकु की हत्या की उनका नाम मोहम्मद इस्लाम, जाहिद, और मोहम्मद मेहताब है। अगर रिंकू का नाम (रेहान होता या कोई मुस्लिम समुदाए से होता तो उसकी हत्या देश की सबसे बड़ी खबर होती ओर हर नेता उसके दरवाजे पर होता पर क्यूँकि वह हिंदू समुदाए से था इसलिए देश के कुछ लोग अपने आप को धर्म निर्पेक्श कहने वाले चुप हे। रिंकु शर्मा दुआरा भगवान राम का नाम लेने के कारण की गयी हत्या देश में पहला अपराध नहीं पिछले कयी सालो से हिंदुओ पर अत्याचार भड़ता जा रहा हे। भगवान राम का नाम अगर हिंदुस्तान में नहि लेंगे तो क्या पाकिस्तान में लेंगे। (हम शिव सेनिक गर्व से बोलते हे हम हिंदू हे अगर कुछ विशेष धर्म के लोग भारत भाईचारे को ख़त्म कर एसी घटनाओं को अंजाम देंगे ओर हम हिंदुओ पर अत्याचार करेंगे तो इसका अंजाम बोहत खतरनाक होगा) हिंदू समाज सभी धर्मों का आदर सत्कार करता हे इसका म्त्ल्भ यह नहि के हम कायर या डरपोक हे देश में हर व्यक्ति को किसी भी धर्म को मान्ने का क़ानूनी अधिकार हे ओर यही एक लोकतांत्रिक देश का मूल्य हे।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed