Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

  आख़िर क्यों न्यूज़       भारतीय रेलवे ने यात्रियों को बड़ी राहत दी है। कोरोना काल में कैंसल हुई नियमित ट्रेनों के टिकट का पैसा वापस लेने की अवधि 6 महीने से बढ़ाकर 9 महीने कर दी गई है। रेल मंत्रालय ने कोरोना संकट के कारण पिछले वर्ष 21 मार्च से 30 जून के बीच की यात्रा के लिए रद हुई ट्रेनों के काउंटर टिकटों के रिफंड दावे की समयावधि को बढ़ा दिया है। इसके पहले मंत्रालय ने यह सुविधा बढ़ाकर छह महीने कर दिया था। मंत्रालय ने बताया है कि उक्त समयावधि के दौरान यात्रा की तिथि से पीआरएस काउंटर टिकटों को नौ महीने तक आरक्षण काउंटरों पर रद करा कर रिफंड लिया जा सकेगा। पूर्व में तय छह महीने की अवधि बीतने के बाद भी कई यात्रियों ने रेलवे जोनल कार्यालयों में रिफंड के लिए टिकट और आवेदन भेजे थे। उन्हें भी पूरा रिफंड मिलेगा। मालूम हो कि गत वर्ष मार्च में लॉकडाउन घोषित किए जाने पर रेलवे ने सभी नियमित ट्रेनों का संचालन निलंबित कर दिया था। उस समय टिकट रद कराने की अवधि तीन दिन से बढ़ाकर तीन महीना करने की घोषणा की थी, जिसे मई में छह महीने तक विस्तारित किया गया। यह कदम काउंटरों पर टिकट रिफंड कराने वालों की भीड़ नियंत्रित करने के उद्देश्य से उठाया गया था। 6 माह की अवधि गुजरने के बाद भी हजारों यात्रियों के टिकट अबतक कैंसल नहीं हो पाए हैं।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.