Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

उत्तरप्रदेश में स्वास्थ्य केंद्र की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है, जहां कोरोना वैक्सीन लगवाने पहुंची तीन महिलाओं को एंटी रैबिज का टीका लगा दिया गया, जिसके बाद 3 में से एक महिला की हालत बिगड़ गई है। विभाग की इस लापरवाही का पता चलते ही हड़ंकप मच गया, वहां महिलाओं के परिजनों ने जमकर हंगामा किया।जानकारी अनुसार सीएमओ डॉक्टर संजय का कहना कि परिजनों की शिकायत पर जांच के आदेश दिए हैं। मोहल्ला सराय विज्ञान निवासी सरोज (70) पत्नी स्वर्गीय जगदीश, रेलवे मंडी निवासी अनारकली (72) और सत्यवती (62) के साथ सामाजिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाने गई थी। घर आने पर सरोज को तेज चक्कर आने और घबराहट होने पर परिजन उसे निजी चिकित्सालय के पास ले गए।जब पर्चे को देखा तो उस पर एंटी रेबीज वैक्सीन लिखा हुआ था। बाद में जब अन्य दोनों महिलाओं के पर्चे देखे गए तो उन पर भी एंटी रैबीज वैक्सीन लिखा हुआ था। स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ विजेंद्र सिंह का कहना है कि तीन महिलाओं को एंटी रेबीज लगाने का मामला संज्ञान में है और इसकी जांच की जा रही है।कोरोना वैक्सीन के स्थान पर रेबीज़ का इंजेक्शन लगाने के मामले का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी जसजीत कौर ने एसडीएम कैराना व एसीएमओ को जांच अधिकारी बनाते हुए जांच सौंपी है, जिसमें उन्होंने कांधला सीएससी पहुंचकर पूरी घटना की जांच करते हुए, शिकायतकर्ता का बयान दर्ज कर शाम तक रिपोर्ट तलब की है। उन्होंने कहा कि यदि उक्त मामले में कोई भी अधिकारी या कर्मचारी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed