Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

ब्युरो :(आख़िर क्यों न्यूज़ ) :आज चंद्रग्रहण पुष्य एवं आश्लेषा नश्रत्र व कर्क राशि कालीन घटित हो रहा है। इस ग्रहण का सूतक सुबह 8 बजकर 18 मिनट पर लगेगा। ग्रहण का समय शाम 5 बजकर 18 मिनट पर है। खग्रास का प्रारंभ 6 बजकर 22 मिनट सायं व समाप्ति शाम 7 बजकर 38 मिनट पर होगी। ग्रहण रात 8 बजकर 42 मिनट तक रहेगा। ग्रहण की कुल अवधि 3 घंटा 24 मिनट है। शाम 5 बजकर 18 मिनट से रात 8 बजकर 42 मिनट तक सुपर मून नारंगी रंग में दिखाई देगा।

ग्रहण की वजह से सुबह 8 बजकर 18 मिनट से रात 8 बजकर 42 मिनट तक मंदिरों के कपाट बंद रखे जाएंगे। कालिका मंदिर के मुख्य पुजारी चंद्रप्रकाश ममगांई ने बताया कि मंदिरों में शाम की पूजा आरती ग्रहण के खत्म होने पर 8 बजकर 42 मिनट के बाद ही होगा। उधर, हरिद्वार में चंद ग्रहण के सूतक शुरू ही हरकी पैड़ी पर मंदिर बंद कर दिए गए। सुबह से गंगा स्नान के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। हरकी पैड़ी पर भजन कीर्तन चल रहा है।

Advertisements
Advertisements

ग्रहण काल में राहु व चंद्रमा की पूजा करना शुभ रहता है। ज्योतिषाचार्य सुशांत राज के अनुसार ग्रहण के समय भोजन बनाना, भोजन करना, सोना, मूर्तियां स्पर्श करना निषेध है। मंत्रों का जाप करें। बच्चों, बूढ़ों व रोगियों के लिए अन्न, जल लेने में दोष नहीं होगा। ग्रहण समाप्त होने के बाद घर की सफाई, स्नान-दान करें।

Advertisements

:उपाय……..

रोग शांति के लिए ग्रहण काल में महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना शुभ होता है। अन्न वस्त्र धन का दान, फल आदि का दान शुभ रहेगा। ग्रहण काल में चंद्र राहु के जाप के साथ ऊं नमो भगवतो वासुदेवाय.. मंत्र का जाप करना चाहिए।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.