Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

 

इंसानों में बर्ड फ्लू के वायरस प्रवेश करने का पहला मामला सामने आया है। रूस के स्वास्थ्य विभाग ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है। रूस के रिसर्च सेंटर वेक्टर के वैज्ञानिकों ने शनिवार को बड़ी जानकारी देते हुए कहा कि एक पोल्ट्री फार्म के सात कर्मचारी बर्ड फ्लू से संक्रमित पाए गए हैं, हालांकि संक्रमित लोगों में किसी भी तरह के गंभीर दुष्प्रभाव नहीं दिख रहे हैं।वैज्ञानिक अन्ना पपोवा के अनुसार दिसंबर के महीने में रूस के दक्षिण में एक पोल्ट्री में इस महामारी ने दस्तक दी थी। वहीं काम करने वाले सात लोग इस वायरस से संक्रमित हो गए हैं। पापोवा ने कहा कि नमूने को डब्ल्यूएचओ भेज दिया गया है।

पापोवा ने कहा कि यह विश्व में पहला मामला है जब बर्ड फ्लू का वायरस मनुष्य में प्रवेश कर गया हो। उन्होंने कहा कि यह पक्षी के लिए तो बेहद खतरनाक है लेकिन अब आगे देखना होगा कि यह मनुष्य को किस तरह से हानि पहुंचाता है। उन्होंने कहा कि अगर यह मनुष्य से मनुष्य में म्युटेट करता है तो खतरनाक साबित हो सकता है। पापोवा ने वैज्ञानिक के इस सफलता पर बधाई भी दी।

Advertisements
Advertisements

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, आमतौर पर लोग जानवरों या दूषित वातावरण के सीधे संपर्क में आने से संक्रमित हो तो जाते हैं, लेकिन मनुष्यों में कोई निरंतर संचरण नहीं होता है।

Advertisements

 

 

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.