Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements


ब्यूरो (आखिर क्यों न्यूज़): कृषि कानूनों के खिलाफ संघर्ष के चलते राज्य में भाजपा नेताओं का किसानों की तरफ से जमकर विरोध किया जा रहा है। इसके चलते मलोट में पंजाब सरकार के चार सालों की कारगुज़ारी को लेकर मलोट में प्रैस कांफ्रैंस करने पहुंचे भाजपा के अबोहर से विधायक अरुण नारंग और जिला मुक्तसर साहिब के प्रधान राजेश पठेला गोरा को किसान नेताओं के गुस्सा का सामना करना पड़ा। गुस्सा इस हद तक पहुंचा गया कि नेताओं की मारपीट के अलावा विधायक के कपड़े तक फाड़ दिए।जैसे ही नेताओं की गाड़ी मलोट भाजपा के दफ़्तर के पास पहुंची किसान यूनियन लक्खोवाल के ज़िला मीत प्रधान इंद्रजीत असपाल, सोहन सिंह झौरड़, जुगराज सिंह कबरवाला, मनजीत सिंह कबरवाला और किसान यूनियन सिद्धूपुर के ज़िला प्रधान सुखदेव सिंह, सचिव निर्मल सिंह जस्सेआणा और ब्लाक प्रधान लक्खनपाल लक्खा शर्मा के नेतृत्व में बड़ी संख्या में किसान नेताओं ने भाजपा नेताओं को काले झंडे दिखाकर उनके खिलाफ नारेबाज़ी की। कुछ किसान वर्करों ने तरल पदार्थ भी भाजपा नेताओं पर फेंका, इस दौरान दोनों तरफ से जमकर पत्थरबाजी भी हुई। वहीं मौक पर मौजूद पुलिस ने कड़ी मशक्कत के साथ विधायक को भाजपा नेता सतीश असीजा की दुकान के अंदर भेजकर शटर बंद करके बचाया।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed