Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

जालंधर ब्यूरो :(आखिर क्यों न्यूज़) जालंधर डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा अवैध कॉलोनियों का कारोबार लगातार फल फूल रहा है और इनसे ना रिवेन्यू प्राप्त हो रहा है और ना ही कॉलोनियों का विकास लगभग 500 करोड रुपए का सीधा नुकसान जालंधर डेवलपमेंट अथॉरिटी को हो चुका है। बावजूद इसके शहर में धड़ल्ले से कालोनियां काटी जा रही हैं। नाममत्र के लिए  शिकायत मिलने पर जालंधर डेवलपमेंट अथॉरिटी के अफसर कारवाई तो कर देते हैं लेकिन जैसे ही चढ़ावा चढ़ जाता है सेटिंग के जरिए कॉलोनी मैं प्लॉटों की रजिस्ट्री धड़ल्ले से शुरू कर दी जाती है । अफसरों की सेटिंग द्वारा इलीगल कॉलोनी का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है जिसमें करोड़ों का चूना अफसरों की गलतियों की वजह से सरकार को लगाया जा रहा है और जेडीए के इन अफसरों की गहनता से जांच की जाए तो बहुत सारे भेद खुल सकते हैं ।

फिलहाल आज की स्टोरी हम दे रहे हैं जो कार्रवाई जालंधर डेवलपमेंट अथॉरिटी के अफसरों द्वारा की गई। आज शिकायत मिलने पर होशियारपुर रोड पर स्थित जंडू सिंघा तथा चूड़वाली में जेडीए की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए यहां 2 नाजायज कॉलोनियों को तहस-नहस कर दिया यहां कॉलोनाइजर खेतों में प्लॉटिंग तथा सड़कें काट रहे थे जिनके खिलाफ शिकायत मिलने के बाद जेडीए की सीए बबीता तथा एसीए अनुपम कलेर ने मौके पर एसडीओ अभिषेक ढल्ल को टीम सहित भेजा ओर दोनों कालोनियों को डिमोलिश कर दिया।

Advertisements
Advertisements

इसकेे इलावा रामाा मंडी से सटे गांव भोजोवाल में 2 एकड़ में अवैध कॉलोनी काटी गई है कॉलोनाइजर द्वारा उक्त कॉलोनी में पक्की सड़क भी बिछा दी गई है, अगलेेे अंक में गांव भोजोवाल में काटी गई अवैध कॉलोनी समेत कई कॉलोनियोंों की लिस्ट दीी जाएगी

Advertisements

गौरतलब है कि हम आपको अपने चैनल के द्वारा यह बताना चाहते हैं कि जब जालंधर डेवलपमेंट अथॉरिटी के अधिकारी कालोनियों पर कार्रवाई करने के बाद अपनी सेटिंग कर लेते हैं और उसके बाद कॉलोनियां रिजेक्ट लिस्ट में आ जाती हैं अगर झंडू सिंधिया की बात करें तो झंडू सिंधिया का ही एक बड़ा कॉलोनाइजर ऐसा है जो अपने भाई और अपने किसी करिंदे के नाम बड़ी-बड़ी कॉलोनियां काट चुका है और कई सारी कॉलोनियां उसकी रिजेक्ट भी हो चुकी है बावजूद इसके अभी तक इस कॉलोनाइजर पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। और कॉलोनी पर कोई भी इलीगल कॉलोनी का बोर्ड तक नहीं लगाया गया f.i.r. तो बहुत दूर की बात है। यह सेटिंग भी जालंधर डेवलपमेंट अथॉरिटी के एक अफसर द्वारा की जाती है अगली स्टोरी में इस अफसर द्वारा अब तक की सभी कॉलोनियों की लिस्ट और रिजेक्ट फाइल की लिस्ट आपको दिखाई जाएगी कि यह अफसर कितना बड़ा करेक्शन कर चुका है और सरकार को कितने करोड़ रुपए का चूना अब तक लगा चुका है।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

One thought on “जालंधर में नाजायज तौर पर कट रही हैं नाजायज कॉलोनियां नहीं दे रहा ध्यान प्रशासन सरकार और को लगाया जा रहा है करोड़ों रुपए का चूना…”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed