Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

जालंधर ब्यूरो: (आखिर क्यों न्यूज़ भूपेश सुगंध) : आरटीओ ऑफिस में पिछले कई सालों से ऑफिस का काम सरकारी बाबुओं के साथ-साथ प्राइवेट करिंदों के हाथ में है जो जहां सरकारी बाबुओं की मिलीभगत से काम करते हुए लोगों से रिश्वत लेते हुए मोटी कमाई कर रहे हैं ! इस कारण आरटीओ ऑफिस में भ्रष्टाचार फैला हुआ है! पिछले कुछ हफ्ते पहले सोसायटी द्वारा रखा गया कर्मचारी काम के बदले 50,000 मांगते हुए ऑडियो वायरल हुआ था जिसके बाद उसे सस्पेंड कर दिया गया ! लेकिन आज भी भ्रष्ट बाबुओं द्वारा आज भी भ्रष्टाचार फैलाया जा रहा है कोरोना महामारी के कारण आरटीओ ऑफिस में सरकारी बाबुओं का करोना टेस्ट करवाया गया ! लेकिन इन सरकारी बाबुओं द्वारा रखे गए दो नंबर में प्राइवेट करिंदों का करोना टेस्ट कौन करेगा ! जो इस ऑफिस में क्रोना को फैला सकते हैं इनमें से मिंटू नामक व्यक्ति को क्रोना हो गया है वह प्रदीप क्लर्क नाम के सरकारी बाबू के साथ सरकारी कुर्सी पर बैठकर कंप्यूटर पर काम करता है प्रशासन इस ऑफिस में भ्रष्टाचार के साथ-साथ क्रोना को कैसे रोका पाएगा !

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.