Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

जालंधर ब्यूरो  :(आखिर क्यों न्यूज)… सिविल अस्पताल से चोरी हुए डेढ़ दिन के बच्चे को पुलिस द्वारा बरामद किए जाने के‌ बाद अब अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस मामले में चाैकाने वाला खुलासा हुअा है। सिविल अस्पताल की ही दर्जा चार कर्मचारी ने बच्चा बेचने के लिए उठाया था और उसे किसी जानकार को बेचा था। इस मामले में पांच लोग शामिल हैं, जिसमें दाे महिलाएं भी हैं। चार लाख में बच्चे का सौदा हुआ था। लड़की देने पर दो लाख और लड़का देने पर चार लाख में सौदा तय किया था।बच्चा चोरी के आरोप में पकड़े गए आरोपियों की पहचान गांव महेड़ू के पंचायत मेंबर गुरप्रीत सिंह गोपी, गुरप्रीत सिंह पीता, रंजीत सिंह राणा, दविंदर कौर निवासी खुर्शीदपुर कॉलोनी नकोदर और लंबा पिंड की किरन के तौर पर हुई है। किरन सिविल अस्पताल में पिछले सात साल से सफाई कर्मचारी का काम कर रही है

इस बारे में जानकारी देते हुए पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने कहा कि आरोपितों ने बच्चे को चार लाख में बेचा और यह रकम आपस में बांट ली। आरंभिक जांच में पता चला कि 20 अगस्त को दोपहर 12:40 बजे पर गुरप्रीत सिंह गोपी और गुरप्रीत सिंह पीता सिविल अस्पताल के पीछे बोलेरो गाड़ी में पहुंचे। इस दौरान वह बाकी तीन आरोपितों रंजीत, दविंदर कौर और किरन के साथ फोन पर लगातार बात कर रहे थे। इसके बाद किरन ने बच्चे को अगवा किया और गुरप्रीत सिंह गोपी व गुरप्रीत सिंह पीता को सीढ़ियों के पास दे दिया। जो बोलेरो में वहां से फरार हो गए। इसके बाद इन दोनों आरोपितों ने नवजन्मे बच्चे को दविंदर कौर और रंजीत राणा को गांदरा-पंडोरी रोड पर सौंप दिया।उन्होंने कहा कि इस घटना का पता चलते ही एडीसीपी वत्सला गुप्ता, एसीपी हरसिमरत सिंह और सीआईए इंचार्ज हरविंदर सिंह की अगुवाई में टीम बनाई गई। जिन्होंने इसकी गहनता से जांच की और गोपी को उसके दफ्तर से गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा बाकी और उनके घरों से गिरफ्तार हुए हैं। नवजन्मा बच्चा रंजीत राणा और दविंदर कौर के घर से बरामद हुआ है। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ की जा रही है ताकि इस गिरोह में शामिल दूसरे लोगों के बारे में भी पता लगाया जा सके। बच्चे को डॉक्टरों की मौजूदगी में परिजनों के हवाले कर दिया गया है। वीरवार को जालंधर के सिविल अस्पताल के निक्कू वार्ड से वीरवार दिनदहाड़े ही एक नवजात शिशु गायब हो गया था। दोपहर 12.50 मिनट पर सिविल अस्पताल के आपरेशन थियेटर में बच्चे ने जन्म लिया। सवा एक बजे उसे निक्कू वार्ड में बने केयर बाक्स में जांच के लिए रखा गया और पौने दो बजे बच्चा गायब हो गया था।

Advertisements
Advertisements

 

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.