Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

जालंधर ब्यूरो :(आखिर क्यों न्यूज़  वरिंदर शर्मा /ललित कुमार ) भारतीय जनता पार्टी ओबीसी मोर्चा जालंधर के अध्यक्ष एडवोकेट डिंपी लुबाना जी ने कहा 10 रुपए की चॉकलेट पर स्कैन बार कोड अनिवार्य लेकिन शराब पर स्कैन बार कोड अनिवार्य नहीं
पंजाब में नकली और जहरीली शराब पीने के कारण पिछले कुछ ही दिनों में कई मोते हो चुकी हैं एड. दविंदर लुबाना डिंपी अध्यक्ष भाजपा ओबीसी मोर्चा जालंधर ने पंजाब में चल रहे नकली और जहरीली शराब के कारोबार को रुकवाने के लिए करीब 7 महीने पहले ही मुख्मंत्री कैप्टेन अमरिंद्र सिंह जो एक्साइज मिनिस्टर भी है को इक पत्र लिख कर इस विषय को ध्यान में लाया गया था कि पंजाब में नकली ओर जहरीला शराब की बिक्री चर्म सीमा पर है और हर साल हजारों लोग जहरीली और नकली, मिलावती शराब के सेवन के कारण मर रहे है पर उक्त पत्र को जानबूझ कर नजरंदाज कर दिया गया जिसमें एड. लुबाना ने सरकार को सुझाव के तौर पर शराब की हर बोतल पर स्कैन बार कोड ओर हर कंस्यूमर को पक्का बिल देना अनिवार्य करना चाहिए का सुझाव भी दिया पर सरकार चाहती ही नहीं है कि पंजाब में नकली ओर जहरीला शराब की बिक्री बंद हो
यदि किसी शराब के ठेके पर ही वैधता निकली हुई,नकली,जहरीली शराब किसी व्यक्ति को अगर मिले तो स्कैन बार कोड और पक्के बिल के माध्यम से असली और नकली शराब का भी पता चल जाएगा और पक्के बिल से सरकार के रेवेन्यू में भी बढ़ेगा और उक्त ठेकेदारों की कानून जिमेदरी बनेगी जो बाद में सबूत ना होने के कारण बच जाते है

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.