Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

बठिंडा, 19 नवम्बर : डेवलपमेंट ऑफ न्यू साइंस के तहत केंद्र सरकार के हैल्थ व परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से रिसर्च, प्रमोशन व डेवलपमेंट अधीन रजिस्टर्ड सीएलएस बोर्ड ऑफ़ इलेक्ट्रो होमियोपैथी, ठाणे ( महाराष्ट्र) की ओर से डीईएचएम, बीईएमएस और एमडीईएच के सर्टिफिकेट कोर्स का नया बैच शुरू किया जा रहा हैं। चिकित्सा क्षेत्र में अपना क्लीनिक खोल कर लोकसेवा करने वाले युवा उक्त पद्धति में अपना कैरियर बना सकते हैं।
सीएलएस बोर्ड/काउंसिल ऑफ़ इलेक्ट्रो होमियोपैथी के प्रिंसिपल सेक्रेटरी डॉ. सुरेंदर पांडेय और डॉयरेक्टर प्रो. डॉ. हरविंदर सिंह ने बताया कि इलेक्ट्रो होमियोपैथी चिकित्सा पद्धति से पिछले 100 साल से हिंदुस्तान में मरीजों का इलाज़ हो रहा है। 1865 में इटली के डॉ. काउंट सीजर मैटी ने उक्त इलेक्ट्रो होमियोपैथी का अविष्कार किया था। इसमें रक्त और रस में आई अशुद्धियों को दूर कर रोगी का उपचार किया जाता है। कोहेबेशन टैक्नीक से 114 पेड़ पौधों के अर्क (स्पेजरिक एसेंस) से बीमारियां का इलाज किया जाता है। इस दवा को बहुत ही डिलीयूटिड फोरम में मरीज को दिया जाता है जिससे उसे बिमारी के निदान में अप्रत्याशित परिणाम मिलते हैं। डाक्टर सुरिंदर पांडेय कहते हैं कि कैंसर, लीवर प्राब्लम, किडनी रोग, पथरी, माइग्रेन, गठिया, चमड़ी रोग, सेक्स समस्याओं आदि में इसके चमत्कारी प्रभाव देखने को मिलें हैं। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रो होम्योपैथी पद्धति अभी रैकोनाइज नहीं हैं, इसलिए इसका कोर्स करने वालों को सरकारी नौकरी आदि सुविधाओं से वंचित रखा गया है लेकिन इसकी निजी प्रेक्टिस पर किसी तरह की रोक नहीं हैं। उन्होंने कहा कि देश में इलेक्ट्रो होम्योपैथी रैगुलाइजेशन बिल को अप्रूव्ड कराने के लिए केंद्र सरकार के हैल्थ व परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से आईडीसी कमेटी गठित की गई है। इसपर बैठकें चल रही हैं। डॉयरेक्टर प्रो. डॉ. हरविंदर सिंह ने कहा कि देश भर में लाखों इलेक्ट्रो होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति से जुड़े प्रेक्टिशियनरों को उम्मीद है कि जल्द इस पद्धति को मान्यता मिलेग और इलेक्ट्रो होमियोपैथी चिकित्सा पद्धति से जुड़े लोगों को सरकारी नौकरी मिल सकेगी।

 

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.