Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

जालंधर,(आखिर क्यों न्यूज़, वरिंदर शर्मा  ): पंजाब प्रेस क्लब जालंधर का मुद्दा लगातार सुर्ख़ियों में बना हुआ है । इस मुद्दे को लेकर आज साँझा मीडिया मंच ने एक विशेष बैठक की। बैठक में उपस्थित सभी प्रेस एसोसिएशन ने सर्व सम्मति से मता पास किया गया कि यदि डीसी जालंधर ने दो दिनों के भीतर प्रेस क्लब का मसला हल नहीं किया तो सोमवार को पंजाब प्रेस क्लब में लोकतंत्र की बहाली के लिए संघर्ष तेज किया जायेगा। कार्यकारी प्रधान लखविंदर जोहल पंजाब प्रेस क्लब में लगातार अपनी मन मर्जी कर रहा है। जिसका पत्रकारों में भारी रोष दिखाई दे रहा है । जिला जालंधर का प्रशासन पंजाब प्रेस क्लब के मसले में चुप धारण कर बैठा है। बैठक में फैसला लिया गया कि अब पंजाब के सभी जिलों के अलग -अलग प्रेस एसोसिएशन एक मंच मीडिया साँझा मंच के बैनर के निचे एकत्र होंगे और लोकतंत्र बहाली के लिए सोमवार को संघर्ष तेज किया जायेगा। 

बता दे कि कि लगभग 6-7 महीने पहले पंजाब प्रेस क्लब की प्रधानगी को लेकर विवाद हुआ था और पुराने प्रधान लखविंदर जोहल द्वारा धांधली की कोशिश की गई थी। उसके बाद ऐक्शन कमिटी ने विधिपूर्वक चुनाव करवा कर प्रेस क्लब को अपने हाथ में ले लिया था और वरिष्ठ पत्रकार सुनील रुद्रा को प्रधान की कुर्सी पर बिठा दिए गए थे। मामले को उलझता देख डीसी घनश्याम थोरी द्वारा फिर से चुनाव करवाने का आश्वासन दिया गया था और पुरानी बॉडी को रोज़मर्रा के कार्य सँभालने को कहा था लेकिन 6-7 महीने बीत जाने के बाद भी मसला ज्यो का त्यों है । इस मामले को लेकर पत्रकार वर्ग काफी बार डीसी और ऐ.डीसी को मिले परन्तु डीसी ने मामले को ज्यादा गम्भीरता से नहीं लिया। आरोप यहाँ तक है कि पूर्व डीसी घनश्याम थोड़ी और लखविंदर जोहल की मिलीभगत के कारन प्रेस क्लब के मामले को लटका दिया गया। राजेश थापा ने कहा कि आज इसी मुद्दे को लेकर नवनियुक्त डीसी साहेब को मिले और मुख्यमंत्री भगवंत मान के नाम से दोबारा डीसी को याद ज्ञापन सौपा । डीसी साहेब ने पत्रकारों को दो दिन का समय दिया और कहा कि मसले को दो दिन के भीतर हल किया जायेगा। वही राजेश थापा ने कहा यदि दो दिन में प्रेस क्लब का मामला हल नहीं किया गया तो समूचे जिले के अलग – अलग मंच एक जुट होकर जालंधर में संघर्ष करेगी ।

Advertisements
Advertisements

वरिष्ठ पत्रकार अपने तमाम साथियों सहित फिर से पंजाब प्रेस क्लब में की जा रही मनमानी को लेकर नवनियुक्त डी सी से मिले। डीसी साहेब को बताया गया कि किस तरह से प्रशासन के रोक लगाने के बावजूद कार्यकारी प्रधान लखविंदर सिंह जोहल अपनी मन मर्जी कर रहे हैं । नाज़ायज़ रूप से लखविंदर सिंह जोहल खुद को प्रधान बता कर लोकतंत्र की हत्या कर रहे है । लखविंदर सिंह जोहल प्रेस क्लब में अपनी मनमानी कर रहा है जबकि उसे प्रशासन ने सिर्फ कार्यकारी प्रधान नियुक्त किया था।

Advertisements

वरिष्ठ पत्रकारों  ने कहा कि आम लोगों का भरोसा सिर्फ और सिर्फ मीडिया पर ही रहता है। लेकिन वही मीडिया आज खुद अपने स्वयंभू प्रधान लखविंदर जोहल के अनोखे कारनामे के कारण पुरे विश्व  में बदनाम होता हुआ नजर आ रहा हैं जो कि तमाम मीडिया जगत के लिए शर्मनाक हैं। अगर मीडिया स्वयंभू प्रधान भी जबरदस्ती फैसले थोपने लगे तो लोकतंत्र का क्या होगा ? मीडिया ही एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ लोग भरोषा करके अपनी बात को सार्वजनिक करते है पर जो हालात लखविंदर सिंह जोहल ने पंजाब प्रेस क्लब में पैदा कर दिए हैं तो मीडिया कैसे अपनी साख बचा पाएंगे जब लोगों का भरोषा ही टूट जायेगा ?

वरिष्ठ पत्रकार शैली अल्बर्ट ने कहा कि लखविंदर जोहल खुद को प्रधान घोषित कर क्लब में अपनी मनमानी कर रहा है जो उन्हें भविष्य में भारी पड़ सकती है | उन्होंने कहा कि पत्रकारों के इतिहास में लखविंदर जोहल शायद वे पहला व्यक्ति होंगे जिन्हे हिटलर का ताज पहना दिया जायेगा।

राजेश थापा ने सवाल उठाया कि जो लोग अवैध रूप से क्लब के सदस्य बनाए गए जिनका पत्रकारिता से कोई सम्बन्ध नही उनका वोटर सूचि में नाम क्यों है ? उन्होंने पूर्व डीसी को दिए बयां अनुसार नवनियुक्त डीसी को भी कहा कि सही वोटर सूचि तैयार करके जल्द चुनाव करवाए जाएँ। उन्होंने कहा कि लखविंदर जोहल प्रशासन को गुमराह कर रहा है।

वरिष्ठ पत्रकार मैहर मालिक ने कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि अब पानी सर से ऊपर जा चूका है और जल्द लखविंदर जोहल की हिटलरगिरि निकाली जाएगी। विकास मोदगिल और बिट्टू ओबेरॉय ने कहा कि लखविंदर जोहल को प्रशासन ने सिर्फ और सिर्फ कार्यवाहक प्रधान चुनाव होने तक बनाया था परन्तु क्लब का दुर्भाग्य है कि आज वो स्वम्भू प्रधान बन गए है |

राजीव धामी ने कहा कि पंजाब प्रेस क्लब में लोकतंत्र बहाली के लिए उनकी एसोसिएशन हमेशा पत्रकार वर्ग के साथ खड़ा है व हमेशा खड़ा रहेगा।  उन्होंने कहा कि अगर दो दिन के भीतर मसला हल नहीं किया गया तो  पंजाब भर के सभी एसोसिएशन मिल कर बड़े स्तर पर सोमवार को आवाज बुलंद करेंगे ।

बैठक में राजेश थापा प्रधान प्रेस एसोसिएशन ऑफ स्टेट, विकास मोदगिल, महासचिव प्रेस एसोसिएशन ऑफ स्टेट,
मेहर मलिक वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रेस एसोसिएशन ऑफ स्टेट, शैली अल्बर्ट सीनियर वाईस प्रधान प्रेस एसोसिएशन ऑफ स्टेट,
रमेश गाबा कैशियर प्रेस एसोसिएशन ऑफ स्टेट,  राजीव धामी चेयरमैन, पंजाब मीडिया एसोसिएशन,  रोहित अरोरा जिला प्रधान पंजाब मीडिया एसोसिएशन,  संजीव गुप्ता अध्यक्ष अखिल भारतीय पत्रकार संघ पंजाब, गोरी केतन वाईस प्रधान, अखिल भारतीय पत्रकार संघ पंजाब, वरिष्ठ पत्रकार बिट्टू ओबेराय, वरिष्ठ पत्रकार सुनील वर्मा व अन्य बैठक में उपस्थित रहे ।

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

By aakhirkyon

Its a web portal

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed